You are here
राजनीति 

ब्रेकिंग न्यूज़ : PM मोदी नहीं भूले हैं अपना सबसे बड़ा वादा, स्विस बैंक से कालाधन वापस ले जाने के लिए खोले दरवाजे…

2014 में लोकसभा चुनाव से पहले नरेंद्र मोदी ने UPA सरकार पर कालेधन का मुद्दा उठाया था और इसी कालेधन के नाम पर बीजेपी पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आई थी और मोदी जी भारत के प्रधानमंत्री बने थे. मोदी जी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद अपना वायदा फिर से दोहराया था कि वो दुनिया में जहाँ कहीं भी कालाधन होगा उसको भारत वापस लेकर आयेंगे और उस पैसो से भारत का विकास करेंगे.

प्रधानमंत्री मोदी जी के कार्यकाल के 3 वर्ष हो चुके है और अभी तक स्विस बैंक से कालाधन रखने वालो के नाम भी सार्वजनिक नहीं हो पाए है. इसके लिए मोदी सरकार ने कई बार कोशिश भी की है. लेकिन हर बार कोई न कोई स्विस बैंक नया कानून बीच में रोड़ा बन जाता है और कोशिशे बेकार हो जाती है. 3 वर्ष बाद एक बार फिर आशा की किरण जगी है. भारत और स्विट्ज़रलैंड के बीच कालेधन रखने वालो के नाम की सूची के संबंध में एक समझौता हुआ था. उस समझौते में अब एक छोटा सा बदलाव कर दिया गया है. अगले पेज पर स्विजरलैंड ने जो कहा उसको जानकर आपकी ख़ुशी का ठिकाना नही रहेगा.

इस समझौते में स्विट्ज़रलैंड ने कहा है कि 2019 के बाद भारत और स्विट्ज़रलैंड के बीच ऑटोमेटिक इन्फोर्मेशन शेयरिंग का नियम लागू हो जायेगा. 2019 से भारत को उन सभी कालेधन रखने वाले व्यक्तियो के नाम की सूची मिल जाएगी जिसके अकाउंट स्विस बैंक में है. मोदी सरकार की ये सबसे बड़ी जीत है जब वो विदेश में कालाधन रखने वालो का पैसा भारत ला सकेंगे.

इसके लिए स्विट्ज़रलैंड भारत के साथ फाइनेंशियल अकाउंट के ऑटोमेटिक एक्‍सचेंज में सुधार कर रहा है. इससे पता चलता है कि 2019 शुरू होने के साथ स्विस बैंक में रखा कलाधन भी भारत आना शुरू हो जायेगा. इस नियम के द्वारा स्विस फेडरल काउंसिल स्विस बैंक में कालाधन रखने वालो की व्यक्तियों के नाम की सूची भारत के साथ एक्सचेंज कर सकेगी. और ऐसा करने के लिए किसी से अनुमति लेने की आवश्यकता नही होगी. स्विट्ज़रलैंड चाहता है कि भारत को इस बात का ध्यान रखना होगा कि जो सूची वो भारत को देगा उसका कोई गलत प्रयोग न हो.

स्विस बैंक की एक रिपोर्ट के अनुसार स्विस बैंक में भारतीयों का कालाधन 33% घट गया है और अब ये 1.21 अरब फ्रैंक (8392 करोड़ रूपये) रह गया है.

स्विट्ज़रलैंड के केन्द्रीय बैंकिंग प्राधिकरण के स्विस नेशनल बैंक (NNB) ने बताया है कि 2015 तक स्विस बैंक में भारतीयों के खाते में जमा राशी 59.64 करोड़ स्विस फ्रैंक थी जो अब घटकर 1.2176 करोड़ फ्रैंक रह गई. इससे पहले 2006 में भारतीयों का स्विस बैंक में जमा धन 6.5 अरब स्विस फ्रैंक (23,000 करोड़ रूपये) के लगभग था.

Comments

comments

Related posts