तीन साल में मोदी सरकार ने बदला कांग्रेस की 28 योजनाओं का नाम, देखिये यहाँ

केंद्र में मोदी सरकार को तीन साल का हो चुके हैं। इस दौरान विपक्षी दलों द्वारा मोदी सरकार पर कांग्रेस सरकारों द्वारा शुरू की गई योजना का नाम बदलने का आरोप लगता रहा है। अब कांग्रेस सरकार की योजनाओं के नाम बदलने को लेकर विकिपीडिया पर एक पेज बनाया गया है। जिसके मुताबिक मोदी सरकार ने 28 योजनाओं का नाम बदला है।

विकिपीडिया से मिली जानकारी के अनुसार, मोदी सरकार ने मनमोहन सरकार या उससे पहले कांग्रेस सरकार द्वारा बनाई गई 23 योजनाओं का नाम बदलकर उन्हीं योजनाओं को नए नामों से लागू किया है। मनमोहन सरकार के द्वारा 2013 में लागू की गई ‘डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर फॉर एलपीजी’ का नाम बदलकर ‘पहल’ और 2005 में लागू की गई ‘नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन’ का नाम बदलकर ‘दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना’ ऐसे ही 28 योजनाओं का नाम मोदी सरकार ने बदलकर उन्हीं योजनाओं को लागू किया।

बता दें मोदी सरकार पर कांग्रेस सरकारों द्वारा शुरु की गई योजनाओं की फिर से ब्रांडिंग करने का आरोप लगा चुके हैं। हाल ही में केंद्र व राज्य में बीजेपी सत्ता की सहयोगी शिवसेना ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि नोटबंदी के अलावा सरकार ने कुछ भी नया नहीं किया। कांग्रेस की मनमोहन सिंह सरकार द्वारा शुरू की गई योजना का नाम बदलने का काम मोदी सरकार ने किया है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र के माध्यम से बीजेपी की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। असम में भूपेन हजारिका ढोला-सदिया पुल और जम्मू-कश्मीर में चेनानी-नाशरी सुरंग का उदाहरण देते हुए लिखा है कि, कुछ अहम और बड़ी परियोजनाओं की शुरुआत पिछली सरकार ने की थी और उनके उद्घाटन एवं नाम बदलने का काम किया गया।

Source

Comments

comments