You are here
अजब गजब 

लो अब नया फरमान : टमाटर ईसाई होता है मुस्लिम न खाये इसे

यूँ तो कई फतवे आये हैं मगर क्‍या आपने सब्जियों के ऊपर फतवे सुने हैं? विचित्र किन्तु सत्य बात है ये, मिस्र में एक मौलाना ने अपने अद्भुत ज्ञान का प्रदर्शन करते हुए फतवा दिया है कि मुस्लिमों को टमाटर नहीं खाना चाहिए

फतवा के पीछे लॉजिक दिया गया है कि मुस्लिमों को टमाटर नहीं खाना चाहिए क्योंकि टमाटर ईसाई होता है. ये फतवा इजिप्टियन इस्‍लामिक एसोसिएशन की तरफ से जारी किया गया है। इन महाज्ञानी मौलाना का नाम है ‘सलाफी शेख’ और सिर्फ टमाटर ही क्यों, इनका संगठन तो इससे पहले केले और ककड़ी पर भी फतवे जारी कर चुका है।

मौलाना का कहना है कि यदि आप टमाटर को दो भागों में काटेंगे तो उसके अंदर एक क्रॉस नजर आता है और क्रॉस तो ईसाइयों के धर्म का प्रतीक है ना, इसलिए मुस्लिमों के लिए टमाटर खाना हराम है।

अपने इसी लॉजिक को सिद्ध करने के लिए मौलाना के कट्टरवादी समूह ने अपने फेसबुक पेज पर फतवे के साथ टमाटर का बाकायदा एक फोटो भी लगाया है। इस फोटो में साफ़ दिखाई दे रहा है कि टमाटर को दो भागों में काटने पर क्रॉस का चिह्न प्रतीत होता है।

संगठन ने अपने फेसबुक पेज पर टमाटर की फोटो के साथ-साथ मुस्लिमों के लिए एक संदेश भी शेयर किया है, मुस्लिमों से अपील की गयी है कि सभी मुस्लिम इस बात को समझें कि टमाटर वास्तव में एक ईसाई फल है।

इस संदेश के पीछे बाकायदा एक कहानी भी बतायी गई है, जिसके अनुसार फिलीस्‍तीन में एक बहन को सपने में पैगंबर साहब दिखाई दिए, वो लोगों के टमाटर खाने पर बेहद दुखी थे। सपने में उस बहन को ये संदेश दिया कि इस संदेश को पूरी दुनिया में भेजा जाए।

source

Comments

comments

Related posts