अभी तो राज्यसभा सांसद बनी थीं स्मृति इरानी, अब छीना जा सकता है मंत्रालय!

देश के अधिकतर हिस्सों में सरकार में बैठी भारतीय जनता पार्टी के सामने अगले साल गुजरात विधान सभा चुनाव एक बड़ी चुनौती के तौर पर सामने आ रहा है. मोदी और अमित शाह के केंद्र में आ जाने यह चुनौती और भी बढ़ गयी है. हालही में हुए राज्यसभा चुनावों में बीजेपी 2 सीट जीती थी और और एक सीट हारकर गयी जो अहमद पटेल के हाथ में चली गयी. ऐसे में अगले साले होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी को एक ऐसे चेहरे की जरुरत है जो गुजरात के लोगों में नया उत्साह और बीजेपी कार्यकर्ताओं में नया जोश भर सके. इसके साथ ही आनंदी बेन पटेल के इस्तीफ़ा देने के बाद अब बीजेपी की किसी महिला चेहरे की भी जरुरत है.

Source

गुजरात में होने वाला है विधानसभा चुनाव

ऐसे में बीजेपी के सामने गुजरात से राज्यसभा सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी को चेहरा बनाए जाने की संभावना है. इसके बात के संकेत भी मिल चुके है.गुजरात मीडिया में चल रहीं ख़बरों के मुताबिक केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी गुजरात में विधान सभा का चुनाव लड़ सकती हैं. अगर स्मृति इरानी चुनाव लडती है तो वो गुजरात मुख्यमंत्री की सबसे बड़ी दावेदार होंगी.

Source

विजय रूपाणी नही होंगे अगले मुख्यमंत्री!

मीडिया में चल रही ख़बरों की माने तो गुजरात में बीजेपी अब दुबारा मुख्यमंत्री के पद पर विजय रूपाणी  को बैठना नही चाहती. बीजेपी के सामने बहुत सीमित बिकल्प है और ऐसे में बीजेपी किसी महिला को बड़ा चेहरा बनाना चाहती है. ऐसे में स्मृति इरानी सबसे बेहतर बिकल्प के रूप में है. स्मृति इरानी इस समयगुजरात के राजनीति में भी दिलचस्पी ले रही हैं. और वहां के लोगो ने लगातार संवाद भी करती रहती हैं.

Source

स्मृति ने दिए थे संकेत!

हाल ही स्मृति इरानी गुजरात के दौरे पर गयी थी इसी दौरे में इस बात का पहला संकेत मिला. उन्‍होंने गुजराती साहित्‍य के महान कवि वीर नर्मद शंंकर दवे  को उनकी जन्‍म जयंती पर न सिर्फ सूरत में श्रद्धासुमन अर्पित किए, बल्कि इसकी जानकारी अपने ट्वि‍टर अकाउंट पर भी शेयर की.इसके साथ ही उन्होंने पहली बार गुजराती में ट्वीट किया. इसी के साथ स्मृति के गुजरात चुनाव में सक्रिय होने की अटकलें भी तेज हो गयीं.

View image on Twitter

स्मृति इरानी ने लिखा कि गुजराती साहित्य के प्रमुख कवि वीर नर्मद ने अपने जन्मस्थल सूरत में अपनी जयंती के अवसर पर भजनजली को प्रस्तुत किया। जय जय गर्वी गुजरातइसी के साथ एक सच तो यह भी है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नेअ पने हर फैसले से सबको चौकाया है. हो सकता है मोदी गुजरात में भी कोई चौकाने वाला इलान ही करें.

Comments

comments