You are here
TV और सिनेमा 

बलात्कार से बदला: सुपरस्टार दिलीप ने राज खुलने पर रचाई साजिश

मलयाली एक्टर दिलीप को एक एक्ट्रेस की किडनैपिंग और यौन उत्पीड़न के आरोप में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

नई दिल्ली, [स्पेशल डेस्क]। फरवरी में एक एक्ट्रेस के खिलाफ अपहरण और यौन उत्पीड़न के आरोप में गिरफ्तार हुए मलयाली एक्टर दिलीप की गिरफ्तारी के एक दिन बाद इस मामले को करीब से छानबीन कर रही पुलिस के सूत्रों का कहना है कि उनकी जांच में इस बात का पता चला है कि दिलीप ने अपने प्राइवेट अफेयर्स में उसे दखल देने के खिलाफ साल 2013 में ही चेताया था।

क्यों रची गई एक्ट्रेस के खिलाफ साजिश
मलयाली एक्ट्रेस ने कथित तौर पर दिलीप कुमार के पर्सनल अफेयर की बात फैलाई थी। दिलीप वॉरियर की तत्कालीन पत्नी तक काव्या महादेवन के साथ चल रहे अफेयर की बात उस एक्ट्रेस ने ही पहुंचाई थी। ऐसा कहा जा रहा है कि 2013 में एक रिहर्सल अवॉर्ड फंक्शन में एक्ट्रेस के साथ दिलीप की तीखी बहस हो गई थी। जिसके बाद दिलीप ने बदला लेने के लिये पूरी साजिश रची थी।

क्या था दिलीप का षड्यंत्र 
उसके बाद दिलीप ने इस काम के लिए पुलसर सूनी को तैयार किया। दिलीप ने उससे कहा कि वो एक्ट्रेस का यौन उत्पीड़न करे और उस पूरी कार्रवाई का वीडियो शूट करे। इसके एवज में दिलीप ने डेढ़ करोड़ रूपये पुलसर सूनी को देने का वादा किया था। पुलिस की तरफ से दाखिल की गई रिमांड रिपोर्ट के मुताबिक, दिलीप ने पुलसर सूनी से कहा था कि वह वीडियो को शूट करते वक़्त इस बात का साफतौर पर ध्यान रखे कि जो वीडियो शूट किया जाए वह ऊपरी हिस्से और बेहद करीब से शूट हो ताकि कोई इसे छेड़छाड़ वाला वीडियो ना कहे।

विशेष जांच दल ने दिलीप, सूनी और उसके बाकी सहयोगियों से सघन पूछताछ और इस अपराध में शामिल मुख्य अभियुक्त की फोन पर हुई बातचीत को जब कड़ी दर कड़ी मिलाया तो इस घटना का पूरा षडयंत्र और उसका मकसद निकलकर सामने आ गया।

पुलिस ने दिया गवाह और कॉल रिकॉर्ड का हवाला
रिमांड रिपोर्ट के मुताबिक सूनी मार्च 26 और 17 अप्रैल 2016 के बीच दिलीप से इस अपराध को सुनियोजित तरीके से अंजाम देने के लिए मिले थे। पुलिस ने बताया कि एक्ट्रेस कोच्चि से एक नामी होटल में रूकी हुई थी जिस समय अवॉर्ड शो चल रहा था और इस घटना का मुख्य अभियुक्त उसे वहीं पर मिला था। इसके अलावा, नवंबर 2016 में दिलीप तीन बार सूनी से मिले थे।

रिमांड रिपोर्ट में कहा गया है कि एक्टर दिलीप ने सूनी के साथ मिलकर 13 नवंबर 2016 में त्रिशूर टेनिस क्लब में साजिश रची थी। पुलिस ने इसके लिए सबूत के तौर पर आंखों देखा गवाह और कॉल डेटा का हवाला दिया है।

एएमएमए से हटाए गए दिलीप
सोमवार को गिरफ्तारी के बाद दिलीप को तत्काल रूप से एसोसिएशन ऑफ मलयालम मूवी आर्टिस्ट्स (एएमएमए) की प्राथमिक सदस्यता से हटा दिया गया है। सोमवार को दिलीप को गिरफ्तार के बाद 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया। लेकिन, बुधवार को दिलीप को 2 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया है। दिलीप के ऊपर आईपीसी की धारा 120 (बी) यानि आपराधिक षडयंत्र, 342 (गलत तरीके से कैद करना), 366 (किडनैपिंग), 376 डी यानि (एक से अधिक व्यक्ति के द्वारा गैंगरेप या ऐसी कोई कृत्य समूह की तरफ से करना), 411 (बेईमानी से किसी की चुराई संपत्ति लेना), 506 (आई), 212 और 34 के साथ ही आईटी एक्ट की धारा 66(ई) और 67(ए) के तहत केस दर्ज किया गया है।

क्या खत्म हो जाएगा दिलीप का करियर
यौन उत्पीड़न और किडनैपिंग केस में फंसे एक्टर दिलीप की गिरफ्तार को लेकर Jagran.com से ख़ास बातचीत करते हुए आर. राजगोपालन ने बताया कि इस घटना के बाद मलयाली एक्टर का करियर खत्म होता दिख रहा है। उन्होंने बताया कि जिस तरह की लोकप्रयिता उनकी मलयाली फिल्मी दुनिया में थी वह मिट्टी में मिल गई और लोगों का आक्रोश यह जाहिर कर रहा है कि वह अब शायद फिल्मी दुनिया में अब दोबारा नहीं उठ पाए।

मिल जाएगी दिलीप को जमानत
आर. राजगोपालन ने बताया कि चूंकि केरल में वामपंथी सरकार है और दिलीप की वामपंथी से अच्छी बनती है लिहाजा वह बेल पर बाहर भी राजनीतिक प्रभाव से आ जाएंगे। लेकिन उनकी जिस तरह की निगेटिव छवि बनी है उससे पार पाना उनके लिए इतना आसान नहीं होगा।

Source

Comments

comments

Related posts