You are here
राजनीति 

100 से ज्यादा दलितों के साथ जमीन पर बैठकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने खाना तो खा लिया लेकिन जैसे ही मायावती को इसकी भनक लगी..

हाल ही में खबर आई थी जिसके मुताबिक यूपी सीएम आदित्यनाथ एक दलित के घर खाना खाया था| खबर के अनुसार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैंपियरगंज स्थित हरमनपुर गांव में बुधवार को अंबेडकर की प्रतिमा का अनावरण किया जिसके बाद मुख्यमंत्री ने दलितों के साथ खाना खाया|

प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने जमीन पर बैठ कर दलितों के साथ सहभोज किया। इस सहभोज में पूड़ी, लौकी की सब्जी, परवल और आलू की सब्जी के साथ पापड़, सलाद व चावल की भी व्यवस्था की गई थी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बड़े चाव से भोजन करते देखे गये।

इस भोज का आयोजन कराने के लिए एक अलग रसोई तैयार की गई थी। खाने में बेहद साधारण पकवान बनाए गए थे। वहीं भोज का आयोजन भी पारम्परिक तरीकों से कराया गया। एएनाआई की ओर से जारी की गई तस्वीरों में योगी आदित्य नाथ को दलितों के साथ जमीन पर बैठकर खाना खाते हुए दिखाया गया है। योगी समेत सभी को खाना पत्तल में दिया गया और पानी की व्यवस्था कुल्हड़ में की गई।

लेकिन जैसे ही इस बात की भनक मायावती तक पहुंची तो उन्होंने इसे सियासी नाटकबाजी करार कर दिया|मायावती ने मुख्यमंत्री तथा कुछ अन्य वरिष्ठ नेताओं द्वारा कल गोरखपुर के कैम्पियरगंज में दलित समाज के लोगों के साथ भोजन किये जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इस राजनीतिक नाटकबाजी और बनावटी कामों से भाजपा का वर्षों पुराना दलित एवं पिछडा विरोधी चाल, चरित्र तथा चेहरा नहीं बदलने वाला|

Source

Comments

comments

Related posts