You are here
राजनीति 

सावधान !! हिन्दुओं में फूट डालने का षड्यंत्र

इस वक्त हिन्दुओं को आपस में लड़ाने के लिए सोशल मीडिया का जमकर इस्तेमाल किया जा रहा है, हिन्दुओं को आपस में लड़ाने के काम में लगे लोग फर्जी नामों ने कई हिन्दू जातियों की फर्जी ID बना रहे हैं और एक दूसरे को गाली देकर हिन्दुओं को आपस में लड़ाने की कोशिश कर रहे हैं, लोगों में जागरूकता की कमीं के कारण असली लोग भी फर्जी लोगों की बातों में आ जाते हैं और वे भी एक दूसरे से नफरत करने लग जाते हैं लेकिन हमने ऐसे लोगों को एक्सपोज करने का निर्णय किया है ताकि जातिवाद और नफरत का जहर फैलने से रोका जा सके.
सोशल मीडिया का हिन्दुओं के खिलाफ गलत इस्तेमाल
मान लीजिये, मैंने राजपूत के नाम से फेक ID बना ली, अपने नाम के अंत में राजपूत लिख दिया, जाहिर है कि राजपूत जानकार असली राजपूत मेरे फ्रेंड बनेंगे, अब मान लो मैंने दलितों के खिलाफ रोजाना आग उगलनी शुरू कर दी, उन्हें रोजाना गरियाना शुरू कर दिया, अब धीरे धीरे मेरी बातों में आकर असली राजपूत भी दलितों को गालियाँ देने लगेंगे या मेरी पोस्ट को लाइक या शेयर करने लगेंगे, जब दलित लोग देखेंगे कि राजपूत उनके खिलाफ लगातार भड़काऊ पोस्ट डाल रहे हैं, उन्हें गालियाँ दे रहे हैं तो उन्हें राजपूतों से नफरत हो जाएगी.
अब मान लो मैंने दलित नाम से दूसरी फेक ID बना ली, दलित लोग मेरे फ्रेंड बनेंगे, उस ID से मैं राजपूतों के खिलाफ आग उगलनी शुरू कर दूंगा, अन्य दलित लोग भी मेरी बातों में आ जाएंगे और राजपूतों को भला बुरा कहना शुरू कर देंगे. जब राजपूत लोग देखेंगे कि दलित उनके खिलाफ लगातार आग उगल रहे हैं तो उन्हें दलितों से नफरत हो जाएगी.
अब देखिये, मैंने दलित और राजपूत नाम से फेक ID बनाकर दोनों जातियों को आपस में लड़ा दिया, ठीक इसी तरह से मैं ब्राह्मण, यादव, सिंह, ठाकुर, OBC आदि जातियों की फेक ID बनाकर एक दूसरे के खिलाफ जहर उगल सकता हूँ और उन्हें आपस में लड़ा सकता हूँ.
सोशल मीडिया पर पिछले कुछ महीनों से यही हो रहा है, एक ही आदमी 10-10 जातियों के नामों से फेक ID बनाकर जातिवादी घृणा फैला रहा है, ऐसे लोगों को पहचानकर इनके खिलाफ FIR लिखवाना चाहिए, इस काम में बड़ी बड़ी ताकतें लगी हुई हैं और सोशल मीडिया पर नफरत फैलाने वालों को मोटा पैसा दिया जा रहा है. देश में बहुत बड़ी साजिश हो रही है जिसे जानने की जरूरत है, फेक लोगों की सबसे बड़ी पहचान है, ये अपनी प्रोफाइल पर अपनी फोटो नहीं लगाते हैं. ऐसे लोग लगातार भड़काऊ पोस्ट डालते रहते हैं. दिन रात नफरत बांटते रहते हैं.

क्यों हो रहा है ये सब साजिशें

हिन्दुओं को आपस में लड़ाने की साजिश 2019 में मोदी को हराने के लिए हो रही है क्योंकि 2014 में मोदी की सरकार बनाने के लिए भारत के हिन्दू एकजुट हो गए थे, हर जाति ने मोदी को वोट दिया था, एकतरफा मोदी को वोट दिया था इसलिए दुश्मन सोच रहे हैं कि एक बार हिन्दुओं को आपस में लड़ा दिया गया, इनमें फूट डाल दी गयी तो 2019 चुनाव में लोग अपनी जाति देखकर वोट देंगे, मोदी को हिन्दुओं का वोट नहीं मिलेगा और हम आसानी से उन्हें हरा देंगे.
जहाँ तक हिन्दू धर्म त्याग किसी अन्य धर्म को अपनाने की बात कही जा रही है, इस विषय पर केवल इतना ही कहना है “जो अपने धर्म का नहीं हुआ, किसी और का क्या होगा?”; एक दिन इन लोगों की स्थिति बेपेंदी के लोटे के समान होगी, धोबी का कुत्ता घर का न घाट का। यह कटु सत्य है, जिसे ये लोग आज नहीं कल स्वयं स्वीकारेंगे। अपना स्वार्थ सिद्ध कर ठोकर मारकर निकाले जाने पर जो इनकी दुर्गति होगी, इनके पूर्वज भी इन्हे अपना कहने पर शर्मसार होंगे।
देखिये जनता के हितैषी किस तरह हिन्दुओं को विभाजित कर अपनी रोटियाँ सेंक रहे हैं और मंदबुद्धि गुलामों की तरह अपना ज़मीर बेच रहे हैं।

कल देर रात भीम आर्मी नाम के बने एक पेज पर लिखी गयी post पड़ रहा था …
असल में इन पेजो के को चलाने वाले , इनके लिए पोस्टें लिखने वाले…
भीम आर्मी वाले कम ,
अकबरउद्दीन औवेसी की मीम आर्मी वाले ज्यादा होते है …
विस्तार पूर्वक ओर प्रत्यक्ष उदाहरण देकर समझाने का प्रयास करता हूं …
कैसे होते हैं …?
आज की पोस्ट बड़े ही ध्यान से पड़िए …
कल रात भीम आर्मी पेज पर जो पोस्ट में पड़ रहा था उसका बिसय था ।
हिन्दूओ के देवता ओर उनके हथियार –
राम – धनुष बाण
कृष्ण – चक्र
दुर्गा – तलवार
हनुमान – गदा
शंकर – त्रिशूल
ये सभी हथियार क्यों रखते थे …?
इसका सीधा सा अर्थ है किसी को मारने के लिए या अपनी रक्षा के लिए , यदि ये किसी को मारने के लिए रखते हैं तो हिंसा करने वाला उत्तम कैसे हो सकता है । ओर यदि ये सुरक्षा के लिए रखते हैं तो सर्व शक्तीमान नहीं हो सकते
अब अन्य समप्रदायो के विचार प्रवर्तकों को देखें ..
गौतम बुद्ध – कोई हथियार नहीं
मुहम्मद पैगम्बर – कोई हथियार नहीं
महावीर – कोई हथियार नहीं
ईसामसीह – कोई हथियार नहीं
गुरू नानक देव – कोई हथियार नहीं
गुरू रविदास – कोई हथियार नहीं
संत कबीर – कोई हथियार नहीं
बाबा साहेब डा अंबेडकर – कोई हथियार नहीं
सभी अहिंसा के पुजारी थे। जो दया परोपकार करने पर जोर
देते थे….
पोस्ट लिखने वाले की मानसिकता दर्शाती है कि वह घोर सनातन विरोधी है , ओर उसका उद्देश्य हिन्दूओ में आपस में फूट डालना है …
इसी पोस्ट पर एक जागरूक मित्र Rohit Tripathi जी कमेंट करते हैं …
Rohit Tripathi –
मोहम्मद साहब ने 80 से ज्यादा युद्ध लड़े ,
निहत्थे लड़े होंगे.. ?
( Rohit Tripathi जी ने कमेंट बड़ी ही होशियारी से किया ओर भीम आर्मी के भेष में छुपे मीम आर्मी के Mohd Asif को पोस्ट पर Reply देने को मजबूर कर दिया …
Mohd Asif –
जिस तरह आज दलित भाईयों और जुल्म हो रहा है उस समय मुसलमानो पर हो रहा था ओर अपने बचाव के लिए जंग लड़ा था
Rohit Tripathi –
मुस्लिमों पर जुल्म ये तो जोक ऑफ दिन ईयर है , सारी दुनिया पर कहर तुमने मचा रखा है कश्मीर से हिन्दू मार कर भगा दिया ऊपर से ये ड्रामा , झूठ से डरो ..ऊपर वाले को मुंह भी
दिखाना है….
Mohd Asif इतना सुनते ही पोस्ट से गायब 😊
भाई Rohit Tripathi जी ने कड़वे सच से सामना जो करा दिया….
फेसबुक पर फेक आईडी ओर सनातन विरोधी पेजों की भरमार है ये मलेचछी 😈
ब्राम्हण , क्षत्रिय , भीमवादी आदि नामों से फेक आई डी बनाकर हिन्दूओ को आपस में बांटने ओर लड़ाने का कार्य करते हैं
जो ,
जागरूक मित्र है वो इन सब षडयंत्रओ को जानते हैं ।
जो मूर्ख हैं वो इनके षडयंत्रों में फंस जाते हैं ओर आपस में ही लड़ने मरने लगते हैं ….
सहारनपुर मामले की हकीकत लगभग सबको मालूम चल ही गई होगी ।
भीम आर्मी को ढाल बनाकर मलेचछियों 😈 ने इस सुनियोजित दंगे हो अंजाम दिया …
ओर मायावती जी ने अपने स्वार्थ के लिए इसे राजनीतिक रंग दे कर आग में घी डालने का कार्य किया …
मैंने यहां तक सुना है कि दो दिन पहले जब मायावती जी सहारनपुर दौरे पर गयी थी …जाने से पहले उन्होंने सहारनपुर में बैठे अपने चमचो तक सूचना पहुंचा दी थी कि मेरे जाते ही कम से कम चार -पांच दलितों की हत्या होनी चाहिए , क्यों कि मायावती जी अच्छी तरह जानती हैं कि जितनी ज्यादा दलितों की बली दी जाएगी …आन्दोलन उतना उग्र रूप लेगा ।
शक जाएगा राजपूतों पर ….
अंत में निवेदन सभी से कि आपस में लड़ना बंद करो , एक दूसरो को नीचा दिखाना बंद करो ।
इन षडयंत्रकारियों को पहचानो ओर विवेक से काम लो ….
धन्यवाद 👏
जय जय श्री राम 🚩
राम ही राम आठो याम 🚩…

Comments

comments

Related posts