You are here
राजनीति 

मोदी सरकार के 3 साल से कांग्रेस दुखी

मोदी सरकार के तीन साल पूरे हो गए हैं लेकिन कांग्रेस के लिए कुछ भी अच्छा नहीं हो रहा है, कांग्रेस ने मोदी के कार्यकाल को बहुत निराशाजनक बताकर आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी एक घर मातम मनाया, इस दौरान राष्ट्रपति और उप-राष्ट्रपति के नामों की भी चर्चा हुई. मीटिंग के बाद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नाम से प्रेस स्टेटमेंट जारी हुआ जिसमें मोदी सरकार को हर क्षेत्र में फेल बताया गया.

मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार के नोटबंदी के निर्णय पर सबसे अधिक हमला किया, उन्होंने कहा कि नोटबंदी के जितने फायदे गिनाये गए थे, कुछ भी नहीं हुआ, आज इकॉनमी डाउन जा रही है, GDP घटती जा रही है, RBI ने अभी तक नोटबंदी के दौरान प्राप्त करेंसी की घोषणा नहीं की है जिसका मतलब है कि सरकार भी मान गयी है कि यह एक डिजास्टर था. ममोहन सिंह ने यह भी कहा कि मैंने पहले ही कहा था कि नोटबंदी के बाद GDP कम हो जाएगी और आज यही हो रहा है.

मीटिंग ख़त्म होने के बाद कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि मोदी सरकार तीन साल पूरा होने पर कितनी भी ख़ुशी मना ले लेकिन सच यह है कि हर तरफ निराशा का माहौल है, हर जगह लोगों में डर है, दलितों को परेशान किया जा रहा है, अल्पसंख्यकों में डर फैला हुआ है, महिलाएं असुरक्षित हैं, नौजवानों के पास रोजगार नहीं है, आर्थिक विकास की दर गिरती जा रही है.
उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने सबका साथ और सबका विकास का नारा दिया था लेकिन उसका उल्टा हो रहा है, मोदी सरकार अब केवल नारों की सरकार बनकर रह गयी है, नौजवानों को रोजगार देने का वादा किया गया था लेकिन आज हर नौजवान बेरोजगार घूम रहा है.
आज सोनिया गाँधी के घर हुई मीटिंग में कांग्रेस के कई बड़े नेता शामिल हुए जिसमें – पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, गुलाम नबी आजाद, पी चिदंबरम, अम्बिका सोनी, जनार्दन द्विवेदी, राहुल गाँधी, आदि थे.
मीटिंग के बाद सोनिया गाँधी ने सभी कांग्रेसी नेताओं से मोदी सरकार को हर क्षेत्र में घेरने का आदेश दिया, जो अजेंडा तैयार किया गया है उसी पर सबको चलने को कहा गया है.

Comments

comments

Related posts