You are here
राजनीति 

मोदी सरकार के फैसले के विरोध में कांग्रेस विधायक ने खाया बीफ, 19 साल से थे शाकाहारी

केंद्र सरकार द्वारा वध के लिए जानवरों की बिक्री प्रतिबन्ध के खिलाफ केरल सरकार नेमोर्चा खोल दिया है राज्य के मुख्यमंत्री पी विजयन ने स्वंय प्रतिबंध का विरोध करते हुए कहा देश के लोगों को खाने का अधिकार मिला है। अब मवेशियों की ब्रिकी पर बैन के विरोध में कांग्रेस के विधायक टीवी बलराम ने 19 साल बाद बीफ (BEEF) खाया है। वह 19 साल तक शाकाहारी थे।

केरल स्टूडेंट यूनियन के एक कार्यक्रम में टीवी बलराम शरीक हुए थे और उन्होंने मांसाहारी बनने का फैसला करते हुए दोस्त की प्लेट से बीफ खाया। उन्होंने 19 साल बाद बीफ खाने की वजह से इसका फेसबुक लाइव भी किया। वहीं, पुलिस ने गोवंश काटने के मामले में यूथ कांग्रेस के नेता समेत 8 लोगों को गुरुवार को गिरफ्तार किया है। इन लोगों पर गोवंश काटने का आरोप है। इस मामले में कांग्रेस ने यूथ कांग्रेस के लिए तीन कार्यकर्ताओं को निलंबित कर दिया था।

बता दें कि पशु ब्रिकी बैन के खिलाफ केरल में प्रदर्शन हो रहा है। केरल में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं समेत केरल स्टूडेंट्स यूनियन के लोग भी इस प्रतिबंध को हटाने की मांग रहे हैं। केरल के अलावा पश्चिम बंगाल सरकार ने रोक को कानूनी चुनौती देने की बात कही थी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे असंवैधानिक बताया था। बिहार की सत्तादारी पार्टी जेडीयू और तमिलनाडू की डीएमके ने इसका विरोध किया था। वहीं, खबरें आ रही है कि राज्यों के विरोध को देखते हुए सरकार वध के लिए पशुओं की ब्रिकी पर प्रतिबंध के फैसले से भैंस को बाहर कर सकती है।

Source

Comments

comments

Related posts